आज़ाद भारत में कॉपी पेस्ट के जनक, संविधान इन्होने दिया या अंग्रेजो ने जरा सोच लीजिये


प्रश्न:- आज़ाद भारत में कॉपी पेस्ट करने की शुरुवात किसने की थी ???
.
उत्तर:-  महान बाबा भीमराव_अंबेडकर ने...
.
प्रश्न:- कैसे..???
.
उत्तर:- अंग्रेजो का सारा सविधान कॉपी करके आजाद भारत की सविधान की किताब में पेस्ट कर दिया....

भारत पर किस हिसाब से राज किया जाये इसके लिए 
अंग्रेजो ने 1935 में एक नया संविधान बनाया जिसे "गवर्नमेंट ऑफ़ इंडिया एक्ट 1935" कहते है, इसे आप गूगल कर चेक भी कर सकते है 

अब भारत आज़ाद हुआ और नेहरू गाँधी आंबेडकर इन सबकी मंडली बैठी संविधान कैसे बनाया जाये 
आंबेडकर को इस मंडली का प्रमुख बनाया गया, वैसे संविधान अकेले आंबेडकर ने नहीं बनाया, इस मंडली में बहुत से लोग थे उन सबने कुछ न कुछ डालकर संविधान बनाया, पर इस मंडली के प्रमुख आंबेडकर थे, इसलिए ऐसा कहा जाता है की आंबेडकर ने संविधान दिया, खैर 

अब संविधान की धाराओं को आर्टिकल कहते है 
1935 में अंग्रेजो ने जो "गवर्नमेंट ऑफ़ इंडिया एक्ट" बनाया था, उसके 99 आर्टिकल्स को आंबेडकर ने आज़ाद भारत के संविधान में भी हूबहू कॉपी पेस्ट कर दिया, न की 1 कौमा ही बदला और न ही कोई फुल स्टॉप बदला 

और बाकि का संविधान भी यूरोप और अमरीका के देशों से लिया गया 
इस मंडली ने संविधान में खुद कुछ भी योगदान दिया हो ऐसा है ही नहीं 

और इसी कारण आंबेडकर आखिर में परेशान भी हो गए थे और कहा था की इस संविधान को सबसे पहले मैं ही जला दूँ 

Loading...


Loading...