ऐसे साधारण और आम लोग, मित्रों की शादियों में 6-6 देश घूम आये, "अब कितने अच्छे दिन चाहिए"



कपिल मिश्रा ने आम आदमी पार्टी के नेताओं के विदेशी यात्राओं पर सवाल उठाये 
आम आदमी पार्टी की चोर मंडली में हड़कंप मच गया उसके बाद संजय सिंह सबसे पहले सामने आया और 
उसने खुद ही कबूल कर लिया 

मैं रूस, अमरीका, कनाडा, बहरीन, दुबई और कतर गया था 
मित्रों की शादियों में इन देशों में गया था 

यानि ये महाशय अपने अलग अलग कम से कम 6 मित्रों की शादियों में 6 देश होकर आ गए 
और आज 14 मई 2017 को आशुतोष गुप्ता ने भी बताया की वो भी संजय सिंह के साथ इन यात्राओं पर था 
यानि आशुतोष भी 6-6 देश मित्रों की शादियों में घूम आया 

वैसे इन दोनों ने ही नहीं बताया की किसके पैसे से 6 देशों की यात्रा कर आये, वहां कहाँ रुके, इनके 6 कौन से दोस्त है, और अन्य कई जवाब इन्होने दिए नहीं, खैर 

हमारी याददास्त थोड़ी ठीक है, इसलिए आज हमे संजय सिंह और आशुतोष की शक्ल देख कई चीजें याद आ गयी 

सबसे पहले संजय सिंह 
ये उत्तर प्रदेश का रहने वाला है, और ये राजधानी लखनऊ के अलग अलग सिनेमा हॉल और मेरठ में भी 
फिल्मों के टिकट बेचा करता था, अब बेचा क्या करता था, ब्लैक करता था 
फिर दिल्ली आ गया और किराये के मकान में रहने लगा, 2 साल तक तो ये कुमार विश्वास के मकान में रहा था 

अभी भी न ये विधायक है, न मंत्री संत्री है, न व्यापार है, नल्ला है 100% नल्ला 

अब आते है आशुतोष पर 
ये पहले एक निजी समाचार चैनल में संपादक था, फिर इसने सम्पादक गिरी छोड़ कर आम आदमी पार्टी ज्वाइन कर ली, ये वही आशुतोष है जिसने कार्यकर्ताओं से अपील करी थी की, "मेरे पास कोई लैपटॉप नहीं है, कोई मुझे चुनावी कार्य के लिए लैपटॉप उधार दे दो, नए लैपटॉप के पैसे नहीं है" 

आज भी आशुतोष कुछ नहीं करता, न विधायक है न मंत्री संत्री, और इसके कोई व्यापार भी नहीं है, संजय सिंह की तरह ये भी 100% नल्ला है नल्ला 

मसलन ये दोनों संजय सिंह और आशुतोष बेहद साधारण थे, जबतक की आम आदमी पार्टी की दिल्ली में सरकार नहीं बनी थी, और ऐसे साधारण लोग, यार हद है 6-6 देश, प्लेन के टिकट ही यार 50 हज़ार से कम क्या होगा रूस और कनाडा अमरीका का 

ऐसे साधारण लोग, ऐसे आम लोग 6-6 देश घूम आये, अब भारत में इस से अच्छे दिन क्या होंगे आम आदमी के 
loading...
Loading...



Loading...